ads

1/31/2021

फ्री में Online Ved कैसे पढ़ सकते हैं? PDF Download

 नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम बात करेगे की Online Ved फ्री में  कैसे पढ़ या उसकी पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड कर सकते है   

वेद विश्व का सबसे  पुराना धार्मिक ग्रन्थ है जिसमे इन्सान के सभी दुखो का हल मिल जाता है वेद सामान्य रूप से समस्त मानव जाति के लिए ज्ञान का एक सम्मानित स्रोत हैं। 

क्यों पढ़े वेद 

दोस्तों आज के समय में कोई भी हिन्दू वेद (Ved) को नही पढता इसका सबसे बड़ा वजह इसके आसानी से उपलब्ध नही होना है   जिसका फायदा आज के हिन्दू विरोधी संगठन उठाते है जिसमे से सबसे फेमस नाम जाकिर नाइक है जो की एक इस्लामिक स्कालर है उसमे वेद के बारे में बहुत सी झूठी बाते लोगो में प्रचारित की है जैसे के वेद  में गाय का मांस खाने का उल्लेख है  है येसे ही और भी बहुत से हिन्दू विरोधी लोग है जो वेदो की बुराइ करते हुवे नही थकते अगर मै यहा उनके नाम गिनाने लग जाऊ तो पोस्ट ज्यादा लम्बी हो जाएगी इसलिए सीधे मुद्दे पे आते है फ्री में वेद कैसे पढ़ सकते हैं?

फ्री में वेद कैसे पढे?

दोस्तों आज के समय में वेद बहुत ही आसानी से उपलप्ध है बस ये जानकारी होनी चाहिए की उस तक पहुचना कैसे है -

 यहा मै आपलोगो को 3 तरीके बताउगा जिससे आप चारो ved in hindi में पढ़ सकते है 

  • Online Ved पढ़े -

Online Ved पढने के लिए मुख्य रूप से यहा दो वेबसाइट दि गयी है जहा से जाकर आप ऑनलाइन चारो वेद बहुत ही आसानी से पढ़ सकते है और बहुत ही आसानी से कोई श्लोक भी ढूढ़ कर उसका सही अर्थ जान सकते है -



  • Ved - Puran - इस वेबसाइट पे आपको चारो वेद मिल जायेगे जिसमे से कोई सा वेड फ्री में पढ़ या डाउनलोड कर सकते हो बहुत ही आसानी से - 



इसमे आपको निचे के साइड में एक ved नाम का सेक्शन मिलेगा जहा पे सभी वेद मिल जाएगा चैप्टर वाइज जिस वेद को पढ़ना है उसपे क्लिक करके पढ़ सकते है -






  • Online Ved - दूसरी वेबसाइट है हमारी ऑनलाइन वेद ये वेबसाइट बहुत ही कमाल की वेबसाइट जिसने भी इसे बनाया है उसको दिल से धन्यवाद इस वेबसाइट पे कोई सा भी श्लोक ढूढना बहुत ही आसन है और सबसे अछी बात ये है की यहा पे आपको महर्षी दयानंद जी के साथ साथ और लोगो के भी भाष्य मिल जायेगे-
इस वेबसाइट पे आपको हिंदी के आलावा इस सभी लैंग्वेज में भी वेद उपलब्ध है 
  • ved in Hindi
  • ved in English
  • ved in Marathi
  • ved in Nepali
  • ved in Gujarati 



सभी वेदों के पीडीऍफ़ डाउनलोड करे -

अगर आप चारो वेड के पीडीऍफ़ डाउनलोड करना चाहते है तो उसके लिंक निचे दिए गये जहा से आप डाउनलोड कर सकते है .



Ved in MP3 on टेलीग्राम 

दोस्तों ये तो हो गयी सॉफ्ट कॉपी वेद की बात लेकिन आज का समय चलचित्रों का समय है जिसमे लोग देखना और सुनना ज्यादा पसंद करते है येसे में अगर आप भी चाहते है की वेद की ऑडियो फाइल मिल जाये तो निचे टेलीग्राम का लिंक दे रहा हु जिसे ज्वाइन करके उसमे सभी वेद और पुराण की ऑडियो फाइल मिल जाएगी जिसे आप आसानी से डाउनलोड कर के सुन सकते हो 



वेद पुराण YouTube पे 

आज के समय में youtube सब लोग इस्तेमाल करते है अगर आप सभी वेद बहुत ही सुंदर आवाज में सुनना चाहते है तो निचे दिए गये youtube चैनल को ज्वाइन कर सकते है था आपको चारो वेदों के ऑडियो फाइल बहुत ही साफ और मधुर आवाज में सुनने को मिल जायेगा -







इस चैनेल पे आपको वेद अलावा 18 पुराण के ऑडियो मिल जायेगे 


लास्ट लाइन 


दोस्तों उम्मीद करता हु आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी आपलोगों से एक रिक्वेस्ट है ये पोस्ट अपने  सोशल मिडिया अकाउंट पे दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे और अगर कोई सवाल हो तो कमेंट जरुर करे ..

धन्यवाद 
एडमिन सुनील .....






8/10/2020

क्या घर में महाभारत रखने से लड़ाई होती है?

नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है मिस्टर सुनील ब्लॉक पर दोस्तों आज की पोस्ट में हम बात करने वाले हैं हिंदुओं के घर में महाभारत क्यों नहीं होती है  और क्या घर में महाभारत रखने से लड़ाई होती है? इन सभी सवालों का जवाब इस पोस्ट में जानेंगे 

क्या घर में महाभारत रखने से लड़ाई होती है


क्या घर में महाभारत रखने से लड़ाई होती है?

 दोस्तों आपने रामायण कथा सुनी होगी गीता पाठ सुना होगा लेकिन आपने कभी महाभारत कथा  नहीं सुनी होगी  इसका मेन कारण है की हिन्दुओ के मन में  एक अफवाह फैलाई गई है की महाभारत का पाठ करने से गृह  क्लेश होता है यानी कि घर में लड़ाई झगड़े होते हैं दोस्तों अगर यह बात सच है तो आज के समय में हर 5 शादियां में से दो शादियां टूट  जाती हैं बाकी एक शादी भी सही प्रकार से चल नहीं पाती जबकि उनके घर में महाभारत नहीं होती है और निश्चित रूप से उन्होंने कभी भी महाभारत नहीं पड़ी होती है

फिर सवाल यह उठता है की बिना महाभारत के अगर यह समाज इतना नीचे गिर गया है तो निश्चित रूप से यह अफवाह गलत है कि महाभारत पढ़ने से घर में लड़ाइयां होती हैं 

अच्छा दोस्तों एक बात बताओ यदि केवल महाभारत पढ़ने से लड़ाई बखेड़ा खड़ा हो जाता है तो हमें हथियारों के बलबूते पर सीमाओं की रक्षा करने की जरूरत नहीं पड़ती केवल पाकिस्तान में जाकर महाभारत रख देते या महाभारत पाठ कर देते  और पाकिस्तान बर्बाद हो जाता जबकि दोस्तों येसा नही है समय समय पर दुराचारियो ने  बहुत से प्रयास किये है हिन्दुओ को उनके धर्म ग्रन्थ से दूर करने का उसमे से ही एक प्रयास ये भी है 

मेरा निश्चित मत है कि  जिस घर में  महाभारत का पाठ  होगा और उसकी शिक्षाओं को लेकर हम आगे बढ़ेंगे  तो किसी भी प्रकार की समस्या का समाधान हम आसानी से  ढूढ़  ले जाएंगे

यदि निरंतर महाभारत का पाठ हिंदुओं के घर में पढ़ा जाता उसमें लिखी गई बात हर हिन्दू धारण करता तो  कभी भी हम मुसलमानों और अंग्रेजो के  गुलाम नहीं बनता 

कहा से खरीदे महाभारत

अगर आप महाभारत खरीदना चाहते है तो निचे लिंक से क्लिक करके Ved Rishi .com से खरीद सकते है किसी भी हिन्दू ग्रंथो को खरीदने के लिए ये वेबसाइट बहुत ही उपयोगी है यहा आपको बिना मिलावटी कोई भी किताब मिल जाएगी जिसमे लिखी बातो पे विश्वास किया जा सकता है

Buy  Mahabharata


फाइनल वर्ड 


दोस्तों इस पोस्ट का मकसद था लोगो मन से ये डर निकालना की घर  में महाभारत रखने से लड़ाई होती है?  उम्मीद करता हु आपको ये पोस्ट अच्छी लगी होगी और पसंद आयी होगी अगर पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे और उनको जागरूक करे

  • ये भी पढ़े - क्या वैदिक यदुवंशी क्षत्रिय नहीं शूद्र हैं ? 

  • ये भी पढ़े - 200+ Sandeep Maheshwari Quotes In Hindi

8/09/2020

शुद्र कौन है ? मनुस्मृति एवं वेदों में क्या लिखा है शुद्र के बारे में

आज की इस पोस्ट में जानेगे की शुद्र कौन है ? मनुस्मृति ,वेद, श्रीमद्भगवद्गीता  एवं  बाकी सनातन धर्म ग्रंथो में क्या लिखा है शुद्र के बारे में ।  इस पोस्ट को पढने के बाद आप कभी ये नही सोचोगे की शुद्र कौन है ? और आपके मन में चार वर्ण को लेकर जितने भी सवाल है सबका जबाव इस पोस्ट में मिल जायेगा तो इस पोस्ट के एक लाइन को ध्यान से पढना इसमे लिखी सभी बाते तथ्य और परमान पर आधारित है इसमे एक भी लाइन अपने मन से नही लिखी गयी है ।



शुद्र कौन है ?


शुद्र उसे कहते है जो बुद्धिहीन (जिसमें बुद्धि न हो)  होकर कर के  मंदबुद्धि  होकर के आलस्य प्रमादी होकर   विध्या का अध्यन नही करता  वो शूद्र कहलाता है  चाहे वो बालक ब्राह्मण,छत्रिय,वैश्य या शुद्र का हो  और यदि कोई शूद्र का बालक बुद्धिमान होकर के  विध्या का अध्यन कर के विद्यावान बन  जाता था  तो वो पूर्ण पूजा का पात्र माना जाता है ।

डा. भीमराव आम्बेडकर जी ने मनुस्मृति क्यों जलाई थी 


आपको जानकर हैरानी होगी की भारत में एक मूल प्रति है मनुस्मृति की जो हजारो वर्ष से आयी है और एक मनुस्मृति अंग्रेजो ने लिखवाई है और अंग्रेजो ने इसे लिखवाने में मैक्समुलर की मदद ली थी मैक्समुलर एक जर्मन विद्वान था जिसको संस्कृत बहुत अच्छे से आती  थी उसको कहा गया की तुम भारत के शास्त्रों को पढो और बताओ की उनमे क्या है फिर जरूरत पड़ने पर उसमे राद्धो बदल करेगे मैक्समुलर ने मनुस्मृति का अनुवाद किया जर्मन में फिर अंग्रेजी में  अनुवाद हुवा फिर अंग्रेजो को समझ आया की मनुस्मृति न्याय व्यस्था की सबसे बड़ी पुस्तक है और भारत के न्याय वेवस्था का आधार है तो उन्होंने मनुस्मृति में येसे विच्छेप डलवा दिए जिससे भारत वासियों को भरमाया जा सके और गलत रास्ते पर चलाया जा सके उनके मन में मनुस्मृति के प्रति नफरत पैदा हो उनके मन में मनुस्मृति के प्रति बहुत ही ज्यादा निचाई की  भावना पैदा हो  इस तरह के विछेप डाले गये इसी तरह के विछेप डाले गये हमारे अन्य बहुत सारे ग्रंथो में और अंग्रेजो की इसके लिए बहुत बड़ी टीम थी जिसको अंग्रेजो ने नाम दिया था  विलियम हंटर कमीशन 

अंग्रेजो द्वारा लिखी मनुस्मृति में बहुत सी येसी बाते लिखी गयी है जिसे पढने के बाद किसी भी हिन्दू को मनुस्मृति से नफरत हो जाएगी और उसको जलाने की बात करेगा

मुझे उम्मीद है  की आपको जवाब मिल गया होगा की डा. भीमराव आम्बेडकर जी ने मनुस्मृति क्यों जलाई थी

मै यहाँ पर आपको दोनों मनुस्मृति की पीडीऍफ़ फाइल दे रहा हु जिसे आप फ्री में डाउनलोड कर सकते हो और पढकर आप समझ सकते हो की किस मनुस्मृति में क्या लिखा है

 मनुस्मृति PDF डाउनलोड 


 

  • मनुस्मृति -  ये अंग्रेजो द्वारा मिलावटी मनुस्मृति है -


डाउनलोड मनुस्मृति 



  • विशुद्ध मनुस्मृतिमनु महाराज द्वारा लिखित मनुस्मृति -


डाउनलोड विशुद्ध मनुस्मृति


 

मनुस्मृति एवं वेदों में क्या लिखा है शुद्र के बारे में


अब हम एक एक करके जानेगे की मनुस्मृति, वेद एवं श्रीमद भगवत गीता में क्या कहा गया है शुद्रो  बारे में और वेद के अनुसार शुद्र कौन है

7/07/2020

ऑनलाइन खसरा खतौनी कैसे निकाले-जमीन का कागज निकलना सीखे

आज की इस पोस्ट में हम जानेगे की ऑनलाइन खसरा खतौनी कैसे निकाले अगर आपने जल्द ही  कोई जमीन बेचीं या खरीदी है या आपको  अपनी जमीन से संबंधित कोई कागजात चाहिए तो उसके लिये आपको तहसील या कचहेरी जाना पड़ता है।  और इसमे हमारा काफी टाइम लग जाता है और जो परेशानी होती है वो अलग ।

लेकिन बीते दिनों ही सरकार ने सभी राज्यों के लिये अलग अलग  वेबसाइट शुरू की है, जिसमें सभी जिलो की जमीन के दस्तावेजों का डिजिटलीकरण कर दिया गया है. जिसे आप ऑनलाइन देख या प्रिंट कर सकते है ।

 



इस पोस्ट में आप जानेगे की आप अपने जमीन के कागज अपने मोबाइल से बस कुछ ही सेकंड में कैसे निकाल सकते है ।

किन किन चीज की जरुरत पड़ेगी 


खसरा खतौनी निकालने या ऑनलाइन देखने के लिये आपके पास इन्टरनेट व  मोबाइल या लैपटॉप होना चाहिए और आपको ये पता होना चाहिए की आप जिस जमीन का विवरण देखना चाहते हो वो किस गावं में है

खसरा खतौनी कैसे निकाले


सबसे पहले आप जिस राज्य के रहने वाले है आपको उस राज्य के वेबसाइट पे जाना होगा निचे मैंने सभी राज्यों की वेबसाइट का लिंक दिया हु आप उसपे क्लिक करके उस राज्य के वेबसाइट पर जा सकते है या आप गूगल पे जाकर अपने राज्य के नाम के आगे भुलेख( Bhulekh) लिखकर सर्च करना है जैसे मान लेते है की  आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले है तो आपको गूगल पे सर्च करेगे "Uttar Pradesh Bhulekh" और जो पहली वेबसाइट आयेगी उसको ओपेन करके आप खसरा खतौनी देख सकते हो ।

यहाँ मै सभी राज्यों के खसरा खतौनी कैसे चेक करे ये तो नही दिखा सकता क्योकि पोस्ट ज्यादा लम्बी हो जाएगी  उदाहरन के तौर पे उत्तर प्रदेश की खसरा खतौनी कैसे चेक करे स्टेप बाई स्टेप बता रहा हु इसको फॉलो करके येसे ही  अपने राज्य की वेबसाइट पर जाकर देख सकते है ।

 

उत्तर प्रदेश जमीन का कागज निकलना सीखे



  • गूगल में सर्च करे Uttar Pradesh Bhulekh" और जो पहली वेबसाइट आयेगी उसको ओपेन करे

  • वेबसाइट ओपेन करने के बाद उत्तर प्रदेश के सभी जिलो का नाम show हो जायेगा इसमे से अपने जिले का नाम चुने -


  • जिले का नाम चुनने के बाद उस जिले में जितने भी तहसील होगी सभी तहसील का नाम दिखाई देगा उसमे से अपने तहसील का नाम चुने -




  • जैसे ही आप तहसील चुनेगे तो उस तहसील में जितने भी गाव होगे सभी नाम दिखाई देगे उसमे से अपने गावं का नाम चुने -



गावं का नाम चुनने के बाद  यहा आपको बहुत से आप्शन मिल जायेगे जैसे -

  • खसरा/गाटा संख्या द्वारा खोजे

  • खाता संख्या द्वारा खोजे

  • खातेदार के नाम द्वारा खोजे

  • नामान्तर दिनांक से खोजे


जिसमे आसानी के लिये  आप खातेदार के नाम द्वारा खोजे  पर क्लिक करे -


  • नाम के कुछ अक्षर भरे पे क्लिक करके यहा जिसके नाम से जमीन है उसके नाम का कुछ अक्षर भरकर सर्च करे और सर्च लिस्ट में से अपना नाम पर ट्रिक लगा कर उद्धरण देखे पर क्लिक करे -



  • जो इमेज में टेक्स्ट दिखाई दे रहा है उसे  निचे बॉक्स में भरकर continue पर क्लिक करे -





  • फाइनल अब आपके जमीन की खतौनी कुछ येसी दिखाई देगी जिसे आप कही पे भी सबुत के तौर पर उपयोग कर सकते है -




 

सभी राज्यों के भुलेख वेबसाइट


Assam (असम)


Andhra Pradesh (आंध्र प्रदेश)


Bihar (बिहार)


Chhattisgarh (छत्तीसगढ़)


Delhi (दिल्ली)


Gujarat (गुजरात)


Goa (गोवा)


Haryana (हरियाणा)


Himachal Pradesh (हिमाचल प्रदेश)


Jharkhand (झारखंड)


Kerla (केरल)


Kernatak (कर्नाटक)


Maharashtra (महाराष्ट्र)


Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश)


Manipur (मणिपुर)


Meghalaya (मेघालय)


Mizoram (मिजोरम)


Nagaland (नागालैंड) coming Soon


Odisha (उड़ीसा)


Punjab (पंजाब)


Rajasthan (राजस्थान)


Sikkim (सिक्किम) coming Soon 


Tamil Nadu (तमिल नाडू)


Telangana (तेलंगाना)


Tripura (त्रिपुरा)


Uttar Pradesh (उत्तर प्रदेश)


Uttrakhand (उत्तराखंड)


West Bengal (पश्चिम बंगाल)



फाइनल वर्ड


दोस्तों उम्मीद करता हु आपको इस  पोस्ट से जरुर कुछ सिखने को मिला होगा अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी  हो तो निचे लाइक बटन दबाकर पोस्ट को लाइक करे और इस पोस्ट से सम्बंधित कोई सवाल हो तो निचे कमेंट में पूछे मै जल्द ही रिप्लाई करुगा -

धन्यवाद :-



7/03/2020

आधार कार्ड से तत्काल पैन कार्ड कैसे बनाये फ्री में

हैल्लो फ्रेंड्स स्वागत है MR Sunil Blog पर आज की इस पोस्ट में हम जानेगे की आधार कार्ड से तत्काल पैन कार्ड कैसे बना सकते है वो भी फ्री में तो चलिए शुरु करते है |


तत्काल e-PAN पैन कार्ड क्या है


अगर आपके आधार कार्ड में मोबाइल नंबर लिंक है तो आप घर बैठे अपने मोबाइल से तत्काल पैन कार्ड पैन कार्ड  खुद से बना सकते है क्योकि पैन कार्ड के तत्‍काल आवंटन के लिए वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 28 मई दिन गुरुवार को  इस सुविधा की शुरुआत की है। पैन कार्ड बनवाने की इस प्रक्रिया की सबसे बड़ी अच्छी बात  यह है कि इसमें वक्‍त नहीं लगता बस दस मिनट के अन्दर आपका पैन बन जाता है  जिसको आप e-PAN के रूप में डाउनलोड कर सकते है

तत्काल पैन कार्ड बनवाने के लिये डॉक्यूमेंट


तत्काल पैन कार्ड बनवाने के लिये आपको केवल आधार कार्ड की जरुरत पड़ेगी जिसमे आपका मोबाइल नंबर लिंक होना चाहिए

अगर आपके आधार कार्ड में मोबाइल नंबर लिंक नही है तो आप UTI या NSDL की वेबसाइट पे जाकर पैन कार्ड के लिये अप्लाई कर सकते है जिसके लिये आपको  107 रुपये की पेमेंट करनी पड़ती है इसके बारे में अधिक जानकारी के लिये ये पोस्ट पढ़े -

आधार कार्ड से तत्काल पैन कार्ड कैसे बनाये फ्री में


स्टेप #1- सबसे पहले आपको www.incometaxindiaefiling.gov.in  की वेबसाइट ओपेन करनी है आप चाहे तो सीधा गूगल में e-filing Home Page सर्च करके जो सबसे पहला रिजल्ट show होगा  उसपे क्लिक करके इस पेज पर आ सकते है इस पेज पे आने के बाद आपको एक आप्शन दिखेगा Instant PAN through Aadhaar  इसपे क्लिक करना है जैसे इमेज में दिखाया गया है |






स्टेप #2- जैसे ही आप Instant PAN through Aadhaar पे क्लिक करेगे तो आप अगले पेज पर पहुच जायेगे इसमे आप Get New Pan पे क्लिक करे  


स्टेप #3- जैसे ही आप Get New Pan पे क्लिक करेगे तो आप अगले पेज पर पहुच जायेगे इसमे आपको अपना आधार नंबर और captcha डालकर Generate Aadhaar OTP पे क्लिक करे 




स्टेप #4- Generate आधार OTP पे क्लिक करने के बाद आप नेक्स्ट पेज पे आ जावोगे जहा पर आपको otp डालना है जो आपके  आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा गया है ओटिपी डालने के बाद validate adhar otp and continue पे क्लिक करना है



स्टेप #5-  जैसे ही आप validate adhar otp and continue पे क्लिक करोगे अगले पेज में आपके आधार कार्ड में जो भी डिटेल है सभी डिटेल show  जाएगी इसमे आपको कुछ नही करना है केवल I confirm That पर ट्रिक लगा कर Submit pan Request पे क्लिक करना है



स्टेप #6-  बस जैसे ही आप Submit pan Request पे क्लिक करेगे आपका पैन कार्ड बन चूका है अगले पेज में आपको Acknowledgement नंबर मिल जायेगा जिसको आप लिख कर रख ले उसके बाद Check Status पे क्लिक  क्लिक करके स्टेटस चेक कर सकते है वैसे इसकी कोई जरुरत नही है आप  10 मिनट इन्तेजार करने के बाद डायरेक्ट डाउनलोड कर सकते है तो चलिए जन लेते है की तत्काल E-PAN कैसे कार्ड डाउनलोड करे 


तत्काल E-PAN कैसे कार्ड डाउनलोड करे 


स्टेप #1- अब हमरा पैन कार्ड बन चूका है अब बस डाउनलोड करना है तत्काल E-PAN डाउनलोड करने के लिये हमें फिर से www.incometaxindiaefiling.gov.in  की वेबसाइट ओपेन करनी है उसके बाद फिर से Instant PAN through Aadhaar  पे क्लिक करना है  नेक्स्ट पेज ओपेन होने के बाद Check Status/Download आधार  पर क्लिक करना है जैसा इमेज में दिखाई दे रहा है |

 



 

स्टेप #२- आधार नंबर और कैप्त्चा डालकर सबमिट पर क्लिक करे -

 



 

स्टेप #3- आपके नंबर जो आधार से लिंक है उसपे येक ओटिपी आयेगा उसको भरकर सबमिट पे क्लिक करे



स्टेप #3- डाउनलोड पैन इमेज पे क्लिक करे पैन कार्ड PDF फोर्मेट में डाउनलोड हो जायेगा

 



स्टेप #4- जो पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड  हुवा है उसको ओपेन करे जब आप ओपेन करेगे तो आपसे एक password पूछेगा pasword आपका Date Of Birth होता है  जैसे मान लो आपका Date Of Birth है 20/07/1996 तो आपका पसवर्ड  होगा 20071996 बिना किसी स्पेस के -



 

स्टेप #5- जैसे ही password डालकर सबमिट करोगे आपका पैन कार्ड show हो जायेगा जैसा इमेज में देख रहे हो वैसा  जिसे आप प्रिंट करके कही पे भी यूज़ कर सकते हो सब जगह मान्य होगा -

 तत्काल E-PAN से सम्बंधित सभी सवालों के जवाब 


1. स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) क्‍या है?


उत्तर: स्‍थायी लेखा संख्‍या या पैन एक दस अक्षरांकीय यूनीक संख्‍या है, आयकर विभाग, आयकर अधिनियम व नियमों के तहत् स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) जारी करता है। स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) वित्‍तीय संस्‍थानों व एजेंसियों के लिए आवश्‍यक है।

2. 'आधार' आधारित तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) क्‍या है?


उत्तर: 'आधार' आधारित तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवंटन सेवा कम से कम समय में स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवंटित करने वाली सेवा है। आपको यूनिक आईडेंटिफिकेशन ऑथरिटी ऑफ इंडिया (भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण) ( यू आई डी ए आई) द्धारा जारी वैध आधार नम्‍बर जो किसी दूसरे पैन से ना जुड़ा हो बताने की आवश्‍यकता है। उस आधार संख्‍या का ई-के.वाई.सी डाटा भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण के साथ साझा किया जाता है। आयकर डाटा बेस में ई- के.वाई.सी डाटा की उचित प्रक्रिया के पश्‍चात् आपको स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) प्राप्‍त होती है।

3. क्‍या यह स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) वैध है? क्‍या किसी दूसरे आवेदन के माध्‍यम से प्राप्‍त/जारी स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) से यह स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) भिन्‍न है?


उत्तर: हां, यह स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) वैध है। नहीं, यह आयकर विभाग द्धारा किसी दूसरे आवेदन के माध्‍यम से जारी की गई स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) से भिन्‍न नहीं है। तथापि, स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) कागजरहित ऑनलाईन एवं निशुल्‍क है।

4. यदि मैं तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के लिए आवेदन कंरू तो मुझे आंवटित स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) कैसे प्राप्‍त होगी?


उत्तर: आप चैक स्‍टेटस ऑफ पैन (स्‍थायी लेखा संख्‍या की स्थिति जांच) पर आधार संख्‍या दाखिल कर स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) डाऊनलोड कर सकते है। यदि आपकी ई-मेल आई डी आधार के साथ पंजीकृत है तो आपको पी डी एफ फॉरमेट में, आपकी ई-मेल पर भी स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) मिलेगी।

5. क्‍या मुझे आधार आधारित तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के उपयोग के लिए भुगतान करना होगा।?


उत्तर: नहीं, यह सुविधा निशुल्‍क है।

6. ई-पैन क्‍या है?


उत्तर: ई-पैन डिजिटली हस्‍ताक्षरित स्‍थायी लेखा संख्‍या कार्ड (पैन कार्ड) है जिसे आयकर विभाग द्धारा इलैक्‍ट्रानिक फॉरमैंट में जारी किया जाता है।

7. क्‍या ई-पैन – पैन का वैध रूप है?


उत्तर: हां, ई-पैन पैन का वैध रूप/साक्ष्‍य है। ई-पैन में एक क्‍यू आर कोड होता है जिसमें स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवेदक का जनसांख्यिकीय विवरण जैसे फोटो, नाम, व जन्‍मतिथि आदि होती है। इस विवरण को क्‍यू आर कोड रीडर द्धारा पाया/देखा जा सकता है। ई-पैन को अधिसूचना संख्‍या 7/2018 द्धारा विधिवत मान्‍यता प्राप्‍त है, जिसे आयकर प्रधान म‍हानिदेशक (पद्धति) द्वारा दिनांक 27.12.2018 को जारी किया गया है। अधिसूचना को देखने के लिए, यहां क्लिक करें।

8. मैं क्‍यू आर कोड रीडर को कहां से डाउनलोड कर सकता हॅू?


उत्तर: इसे वेबसाईट ( डाउनलोड क्‍यू आर कोड रीडर) पर दिए गए लिंक से डाऊनलोड किया जा सकता है।

9. क्‍या मैं एक स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के होने के बावजूद इस सुविधा का उपयोग कर सकता हुं? क्‍या मैं दूसरी स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के लिए आवेदन कर सकता हूं?


उत्तर: नहीं, आयकर अधिनियम की धारा 272बी(1) के प्रावधानों के अंतर्गत्, किसी व्‍यक्ति के पास एक से अधिक स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) होने पर रू10000/- का जुर्माना लगाया जाएगा।

10. आधार-ई.के.वाई.सी के द्धारा कौन तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के लिए आवेदन कर सकता है?


उत्तर: वे स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवेदक जिन्‍हें यू आई डी ए आई से आधार संख्‍या मिली है तथा जिन्‍होंने अपना मोबाइल नम्‍बर आधार के साथ पंजीक़ृत कराया हुआ है, आवेदन कर सकते है।

11. क्‍या विदेशी नागरिक ई-के बाई सी माध्‍यम से स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) का आवेदन कर सकता है?


उत्तर: नहीं।

12. क्‍या ई.के.वाई.सी माध्‍यम से आवेदन हेतु अनिवार्य आवश्‍यकता है?


उत्तर: हां, स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवेदक का मोबाइल नम्‍बर का यू.आई.डी.ए.आई. के आधार डाटाबेस में पंजीकरण आवश्‍यक है।

13. क्‍या मैं स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के लिए आवेदन कर सकता हॅू यदि मेरा आधार कार्ड सक्रिय नहीं है?


उत्तर: नहीं, आप आवेदन नहीं कर सकते।

14. तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) से आधार कैसे सत्‍यापित होता है?


उत्तर: यू.आई.डी.ए.आई. – आधार ई- के.वाई.सी की प्रक्रिया द्वारा पंजीकृत मोबाइल नम्‍बर पर ओ.टी.पी. भेजता है।

15. क्‍या होगा यदि मुझे ओ.टी.पी. नहीं मिला?


उत्तर: आप आधार ई- के.वाई.सी पृष्‍ठ को ओ.टी.पी. पाने के लिए, पुन: जमा करें। यदि अब भी आपको ओ.टी.पी प्राप्‍त नहीं होता तब यू.आई.डी.ए.आई से संपर्क करें

16. ओ.टी.पी कितनी बार भेजा जा सकता है?


उत्तर: अनगिनत बार।

17. यदि ई.के.वाई.सी के दौरान मेरा आधार प्रमाणीकरण खारिज हो जाता है, तो मुझे क्‍या करना चाहिए?


उत्तर: आधार प्रमाणीकरण गलत ओ.टी.पी के कारण खारिज होता है। इसे दिक्‍कत को सही ओ.टी.पी से सही किया जा सकता है। यदि यह फिर भी ,खारिज होता है तो आपको यू.आई.डी.ए.आई से संपर्क करना पड़ेगा।

18. क्‍या मुझे आधार आधारित तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) सुविधा द्धारा स्‍थायी लेखा संख्‍या कार्ड (पैन कार्ड) आवेदन के लिए डिजिटल हस्‍ताक्षरित प्रमाणपत्र की आवश्‍यकता होगी?


उत्तर: नहीं ।

19. क्‍या मुझे आधार कार्ड साक्ष्‍य या के.वाई.सी आवेदन की छायाप्रति जमा करने की आवश्‍यकता है ?


उत्तर: नहीं, यह ऑन लाइन प्रक्रिया है। इसमें किसी कागजी़ कार्य की आवश्‍यकता नहीं है।

20. क्‍या ई-के.वाई.सी. के लिए मुझे स्‍कैन्‍ड फोटो, हस्‍ताक्षर आदि अपलोड करने की आवश्‍यकता है?


उत्तर: नहीं।

21. यदि तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) हेतु ई- के.वाई.सी. आधार मोड द्धारा आवेदित किया गया हो तो क्‍या मुझे पावती भेजनी है?


उत्तर: नहीं, स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवेदक तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) की स्थिति जानने के लिए आधार संख्‍या का उपयोग कर सकता है तथा स्‍थायी स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन)को पी.डी.एफ. में जारी कर सकता है।

22. क्‍या मुझे प्रत्‍यक्ष में सत्‍यापन की आवश्‍यकता है?


उत्तर: नहीं, आधार पर आधारित ई-के.वाई.सी को किसी प्रत्‍यक्ष सत्‍यापन की आवश्‍यकता नहीं है।

23. आधार ई-के.वाई.सी द्धारा स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवंटन के केन्‍द्र कौन से है?


उत्तर: आधार ई-के.वाई.सी द्धारा स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आवंटन की केवल ई-फाइलिंग वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in. पर ही अनुमन्‍य है।

24. क्‍या हम आधार कार्ड से भिन्‍न पता दे सकते है?


उत्तर: नहीं, यू.आई.डी.ए.आई के आधार डाटा बेस का पता ही स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) के डाटाबेस में रखा जाऐगा।

25. मैं अपने तत्‍काल पैन आवेदन की स्थिति कैसे जांच सकता हॅू ?


उत्तर: एक बार अनुरोध जमा हो जाने के पश्‍चात् आवेदक निम्‍न उपायों द्धारा अनुरोध की स्थिति की जांच कर सकता है।:
क) स्‍थायी लेखा संख्‍या को डाउनलोड करने के लिए कृपया आयकर विभाग की ई – फाइलिंग बैबसाईट (Url: https://www.incometaxindiaefiling.gov.in) पर जाए।
ख) 'आधार आधारित त्‍तकाल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन)' - लिंक को दबाए/क्लिक करें।
ग) 'स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) स्थिति की जांच' - लिंक को दबाए/क्लिक करें।
घ) दिए गए स्‍थान में आधार संख्‍या दर्ज करने के पश्‍चात् आधार पंजीकृत मोबाइल नम्‍बर पर आधार ओ.टी.पी दाखिल करें।
ङ) आवेदन की स्थिति की जांच करें- स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आंवटित की जा चुकी है या नहीं।
च) यदि स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) आंवटित की जा चुकी है तो ई-पैन पी.डी.एफ (स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) पी.डी.एफ) की प्रति पाने के लिए डाउनलोड लिंक दबाए या क्लिक करें।

26. क्‍या मुझे प्रत्‍यक्ष स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन कार्ड) कार्ड मिलेगा?


उत्तर: नहीं, आपको ई- स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) जारी जी जाएगी जो स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) का वैध रूप है।

27. मैं कैसे प्रत्यक्ष स्‍थायी लेखा संख्‍या कार्ड पा सकता हॅू?


उत्तर: यदि स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) का आवंटन हो गया है तो नीचे दिए गए लिंक पर स्‍थायी लेखा संख्‍या दाखिल कर आप स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) की छपी हुई प्रति निकाल सकते है।-
https://www.onlineservices.nsdl.com/paam/ReprintEPan.html
https://www.utiitsl.com/UTIITSL_SITE/mainform.html

28. इस सुविधा द्धारा क्‍या में अपने स्‍थाई लेखा संख्‍या कार्ड (पैन कार्ड) में बदलाव कर सकता हॅू?


उत्तर: नही, कृपया बदलाव अनुरोध सुविधा के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाए।-
https://www.onlineservices.nsdl.com/paam/endUserRegisterContact.html
https://www.pan.utiitsl.com/panonline_ipg/forms/csfPan.html/csfPreForm

29. यदि मैं तत्‍काल स्‍थायी लेखा संख्‍या (पैन) सुविधा का उपयोग नहीं कर पाता हूं तो किससे संपर्क करना होगा।


उत्तर: आप हमें epan@incometax.gov.in पर मेल कर सकते है।

नोट - ये सभी सवाल जवाब e-filing के वेबसाइट पे जाकर भी पढ़ सकते है आपके आसानी के लिये यहा पे जोड़ा गया है

 

फाइनल वर्ड 


उम्मीद कर रहा हु आपने इस पोस्ट से बहुत कुछ सिखा होगा और आधार कार्ड से तत्काल पैन कार्ड कैसे बनाये इससे रिलेटेड  सभी डाउट क्लियर हो  गया है सो अगर इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल हो तो निचे कमेंट में पूछ सकते है